Wednesday, 17 February 2016

Short Notes on Biology for SSC & Railway & All Competitive Exams

Vitamins:
विटामिन:
.
• मरने में थोड़ी मात्रा में आवश्यक कार्बनिक यौगिक सामान्य चयापचय कार्यों ‘ विटामिन ‘ के रूप में जाना जाता है बनाए रखने के लिए ।
• यह नहीं है कि सभी विटामिन अमाइन हैं महसूस किया गया कि जब अवधि विटामिन विटामिन में बदल गया था ।
• कई विटामिन ( या ) Coenzymes में परिवर्तित कर रहे के रूप में कार्य ; वे न तो ऊर्जा प्रदान करते हैं और न ही ऊतकों में शामिल कर रहे हैं ।
• ये भी शरीर में जैव रासायनिक प्रक्रियाओं को विनियमित।

विटामिन ‘ए’ को दो समूहों में वर्गीकृत कर रहे हैं

1.वसा में घुलनशील विटामिन (ए, डी , ई, कश्मीर )। ये जिगर की कोशिकाओं में अमीर हैं।

2.पानी में घुलनशील विटामिन (सी, बी कॉम्प्लेक्स )। इन कोशिकाओं में बहुत छोटी मात्रा में मौजूद हैं।


वसा में घुलनशील विटामिन:

विटामिन ए

• विटामिन ए भी ‘ Retinol ‘ के रूप में जाना जाता है।

• कमी रोगों : आंखों में रतौंधी, लाली ( Exophthalmia ), अश्रु ग्रंथियों के अध: पतन ।

विटामिन डी:

• विटामिन डी भी ‘ calciferol ‘ के रूप में जाना जाता है।

•  कमी रोगों : रिकेट्स बच्चों में , वयस्कों में अस्थिमृदुता ।

विटामिन ई:

• विटामिन ई भी ‘ टोकोफेरोल ‘ के रूप में जाना जाता है।

• कमी रोगों : बाँझपन पोषण परमाणु डिस्ट्रोफी , दिल की मांसपेशियों की न्युरोसिस ।

विटामिन K:

• विटामिन के भी ‘एंटी रक्तस्रावी ‘ के रूप में जाना जाता है।

• कमी रोगों : रक्त जमावट को रोका जाता है , लगातार खून बह रहा होता है।

0 comments:

Post a Comment