Wednesday, 10 February 2016

RRB Hindi quiz in hindi

RRB के लिए हिंदी क्विज (अर्थपूर्ण परिच्छेद गठन)
निर्देश (1-5): नीचे (A), (B), (C), (D) और (E) में पांच कथन दिए गए हैं| इन्हें इस तरह क्रमबद्ध कीजिये कि उनसे एक अर्थपूर्ण परिच्छेद बन जाए| फिर उसके बाद दिए गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए|

(A)सुनते ही सियार बोला------औरों का तो एक, किन्तु आपके अठारह अंग टेढ़े हैं|
(B)एक बार एक स्थान पर हाथी, बाघ, तोता, कुत्ता, बगुला, ऊंट आदि पशु-पक्षी मिल गए|
(C)उदहारण देते हुए वह बोला ----हाथी की सूंड, कुत्ते की पूंछ,बाघ के नाखून, तोत्ते की चोंच और बगुले की गर्दन टेढ़ी हैं|
(D)उत्साही ऊंट को अपने ज्ञान का बहुत अभिमान था|
(E)उसने सभी प्राणियों को संबोधित करते हुए कहा—इस दुनिया में टेढ़े अंग बाले पशुओं की भरमार है|
1.परिच्छेद का अंतिम वाक्य कौन-सा होगा?
(1)A
(2)B
(3)C
(4)D
(5)E

2.परिच्छेद का पहला वाक्य कौन-सा होगा?
(1)A
(2)B
(3)C
(4)D
(5)E

3. परिच्छेद का चौथा वाक्य कौन-सा होगा?
(1)A
(2)B
(3)C
(4)D
(5)E

4. परिच्छेद का तीसरा वाक्य कौन-सा होगा?
(1)A
(2)B
(3)C
(4)D
(5)E

5. परिच्छेद का तीसरा वाक्य कौन-सा होगा?
(1)A
(2)B
(3)C
(4)D
(5)E

निर्देश (6-10): नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में एक रिक्त स्थान छुटा हुआ है और उसके नीचे पांच शब्द सुझाये गए हैं| इनमें से किसी एक शब्द को रिक्त स्थान पर रख देने से वह वाक्य एक अर्थपूर्ण वाक्य बन जाता है| सही सही शब्द को ज्ञात कर उसकी क्रम संख्या को उत्तर के रूप में अंकित कीजिए| आपको दिए गए शब्दों में से सर्वाधिक उपयुक्त शब्द का चयन करना है|

6.जब संगीत सभाओं में सारंगी के तारों पर गज पड़ते ही सुरों की बंद कलि पांखुरी-पांखुरी खिलने लगती है, तो रसिक समाज उस ______पर निहाल हो जाता है|
(1)मधुर सौन्दर्य
(2)सारंगी
(3)साज
(4)सुरीले सौन्दर्य
(5)बजैया

7. मिलों के _______ के लिए जीवन का अर्थ है कि जीवन पर्यंत एक निर्थक यांत्रिक क्रिया की बुद्धिहीन अन्वार्ण आवृत्ति कर जाना|
(1)श्रमिक
(2)मालिक
(3)व्यापारी
(4)यंत्रों
(5)उत्पादकों

8.जीवन में अपने परिश्रम में सफलता का ______न पाकर हताश लोग सस्ते मनोरंजन में सांत्वना खोजते हैं|
(1)पसीना
(2)मोल
(3)बोध
(4)परिणाम
(5)संतोष

9.शायद संसार के सभी देशों में ऐसा लोक-विश्वासहै कि सीपी को कान से लगाकर सुनें तो उसमें _____का स्वर सुना जा सकता है|
(1)ह्रदय
(2)प्रेम
(3)सागर
(4)बादल
(5)शंख

10. ट्रेन में बैठे-बैठे मैं कभी पुस्तकों के पृष्ठ उलटता हुआ और कभी बाहर के______हुए दृश्य देखता हुआ अगले दिन अपने लक्ष्य पर पहुँच गया|
(1)उभरते
(2)बदलते
(3)सुधरते
(4)स्पष्ट
(5)घुलते

उत्तर
1.1
2.2
3.3
4.5
5.4
6.4
7.1
8.2
9.3
10.2

0 comments:

Post a Comment