Tuesday, 12 January 2016

About First world war in hindi

लूसेंट सामान्य ज्ञान (09.प्रथम विश्वयुद्ध)

01.प्रथम विश्वयुद्ध की शुरुआत 28 जुलाई,1914 ई0 को आस्ट्रिया द्वारा सर्बिया पर आक्रमण किए जाने के साथ हुई। वह चार वर्षों तक चला।इसमें 37 देशों ने भाग लिया।

02.प्रथम विश्वयुद्ध का तात्कालिन कारण आस्ट्रिया के राजकुमार फर्निनेंड की बोस्निया की राजधानी सेराजोव में हत्या थी ।

03.प्रथम विश्वयुद्ध में सम्पूर्ण विश्व दो खेमों में बॅट गया---मित्र राष्ट्र एवं धुरी राष्ट्र।

04.धुरी राष्ट्रों का नेतृत्व जर्मनी ने किया।इसमें शामिल अन्य देश थे---आस्ट्रिया, हंगरी और इटली आदि।

05.मित्र राष्ट्रों में इंग्लैंड, जापान,संयुक्त राज्य अमेरिका,रूस एवं फ्रांस शामिल था।

06.गुप्त सन्धियों की प्रणाली का जनक बिस्मार्क था।

07.आस्ट्रिया,जर्मनी एवं इटली के बीच त्रिगुट का निर्माण 1882 ई0 में हुआ।

08.सर्बिया की गुप्त क्रान्तिकारी संस्था थी---काला हाथ।

09.मोरक्को संकट 1906 ई0 में पैदा हुई।

10.प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान जर्मनी ने रूस पर आक्रमण 1अगस्त,1914 ई0 में एवं फ़्रांस पर आक्रमण 3अगस्त, 1914 ई0 में किया।

11.8 अगस्त,1914 को इंग्लैंड प्रथम विश्वयुद्ध में शामिल हुआ।

12.26 अप्रैल,1915 ई0 को इटली मित्र राष्ट्रों की ओर से प्रथम विश्वयुद्ध में शामिल हुआ।

13.प्रथम विश्वयुद्ध के समय अमेरिका का राष्ट्रपति वुडरो विल्सन था।

14.अमेरिका 6 अप्रैल,1917 ई0 को प्रथम विश्वयुद्ध में शामिल हुआ।

15.जर्मनी के यू-बोट द्वारा इंग्लैंड के लुसीतानिया नामक जहाज को डुबाने के बाद अमेरिका प्रथम विश्वयुद्ध में शामिल हुआ, क्योंकि उस जहाज पर मरनेवाले 1153 व्यक्तियों में 128 वयक्ति अमेरिकी थे।

16.प्रथम विश्वयुद्ध की समाप्ति 11 नवम्बर,1918 ई0 को हुई।

17.18 जून,1919 ई0 को पेरिस शान्ति सम्मेलन हुआ।

18.पेरिस शांति सम्मेलन में शांति;संधियों की शर्ते निर्धारित करने में जिन राष्ट्राध्यक्षों ने मुख्य भूमिका निभाई, वे थे---अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री लॉयड जॉर्ज और फ्रांस के प्रधानमंत्री जॉर्ज क्लेमेसो ।

19.वर्साय की संधि 28 जून, 1919 ई0 को जर्मनी के साथ हुई।

20.अन्तर्राष्ट्रीय क्षेत्र में प्रथम विश्वयुद्ध का सबसे बड़ा योगदान राष्ट्रसंघ की स्थापना थी ।

21.प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान होनेवाली वर्षाय की संधि में द्वितीय विश्वयुद्ध का बीजारोपण हुआ।

0 comments:

Post a Comment