Saturday, 10 January 2015

Indian politics civics notes in Hindi & English

भारतीय संविधान एक नजर में
.►-संविधान शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग ब्रिटिश नागरिक सर हेनरी मेन ने किया।
.►-दुनिया का सबसे प्राचीन संविधान ब्रिटेन का है, लेकिन यह अलिखित और परम्पराओं पर आधारित है।
.►-दुनिया का सबसे प्राचीन लिखित संविधान अमेरिका का है।
.►-अमेरिका का संविधान ही दुनियां का सबसे छोटा लिखित संविधान है, जिसमें मात्र 7 अनुच्छेद है।
.►-भारत में संविधान निर्माण की प्रक्रिया 1773 के रेग्यूलेटिंग एक्ट से मानी जाती है।
.►-भारत में संविधान सभा का गठन केबिनेट योजना के तहत् 9 दिसम्बर, 1946 को हुआ।
.►-26 नवम्बर, 1949 को भारतीय संविधान बनकर तैयार हुआ।
.►-भारतीय संविधान को बनने में 2 वर्ष 11 माह और 18 दिन का समय लगा।
.►-स्वतंत्रता के समय संविधान में 395 अनुच्छेद 22 भाग और 8 अनुसूचियां थी।
.►-भारतीय संविधान 26 जनवरी, 1950 को लागू हुआ।
.►-भारत का संविधान दुनिया में सबसे बड़ा लिखित संविधान है। जबकि दूसरा कनाडा और तीसरा आस्ट्रेलिया का बड़ा संविधान है।
.►-भारत का संविधान पूर्णत: अंग्रेजी में लिखा हुआ है।
.►-भारतीय संविधान को वकीलों का स्वर्ग कहा जाता है।

Indian Constitution at a Glance
►-Constitution, the term was first used by a British citizen Sir Henry Maine.
►-the world’s most ancient constitution of the UK, but it is based on unwritten traditions.
►-America is the world’s oldest written constitution.
►-American world, the Constitution is the shortest written constitution, which is only 7 article.
►-India regulating the Constitution Act of 1773, the manufacturing process is considered.
►-formed Constituent Assembly of India under the Cabinet plan December 9, 1946 born.
►-26 November 1949 the Constitution was completed. ►-being of Indian Constitution took 2 years 11 months
and 18 days.
►-Independence Constitution, Article 22, section 395 and had 8 schedules.
►-Indian Constitution, January 26, 1950 came into force on.
►-written constitution Constitution of India is the largest in the world. Constitution of Canada is the second and the hird largest in Australia.
►-Constitution of India fully is written in English.
►-called Constitution of India is the paradise of lawyers.

0 comments:

Post a Comment