Saturday, 5 September 2015

India made for the safety of The missile !!!

अभी तक भारत की सुरक्षा के लिए बनाई
गए मिसाइल !!!
_________________________________
सतह से सतह पर-
1. पृथ्वी
►-प्रथम परीक्षण, सन् 1988 चांदीपुर
(उड़ीसा)
►-कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल
►-संस्करण पृथ्वी-1, पृथ्वी-2,
पृथ्वी-3
(सागरिका)
►-न्यूनतम मारक क्षमता 40 किलोमीटर से 250
किलोमीटर/ 600 किलोमीटर
2. अग्नि-1
►-मध्यम दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल
►-मुख्य विशेषता - Re-Entry Technology
Demonstator है, जिसके अंतर्गत वायुमण्डल में
प्रवेश करता है।
►-मारक क्षमता 1500 किलोमीटर तक
3. अग्नि-2
►-एक इंटरमिडिस्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल
(IRBM) श्रेणी का है।
►-अग्नि-2=पाक हत्फ=इजराइल जेरिको-2
►-मुख्य विशेषता- GPS पद्धति के प्रयोग के
कारण स्वयं दिशा ज्ञान और
सीमा निर्धारण की विशेषता।
►-संभावित मारक क्षमता-300 से 3500
किलोमीटर
4.अग्नि-3
►-PSLV तथा क्रायोजनिक इंजन का प्रयोग।
►-मारक क्षमता=3000-4000 किलोमीटर
.अग्नि-4
►-मारक क्षमता=5000-7000 किलोमीटर
.अग्नि-5
►-मारक क्षमता=10000 किलोमीटर
5. ब्रह्मोस (Brahmos)
►-मध्यम दूरी का Super Sonic Cruze Missile
►- भारत और रूस की संयुक्त परियोजना
►-दागो और भूल जाओ (Fire and Forget)
►-प्रथम परिक्षण, जून 2011 में, मारक
क्षमता-290 किलोमीटर
नोट- एक बार दागे जाने के बाद पुन: निर्देशित
करने की आवश्यकता नहीं
पड़ती है।
6. धनुष (Dhanush)
►-पृथ्वी प्रक्षेपास्त्र का ही नौसैनिक
रूपांतरण
►-मारक क्षमता-250 किलोमीटर
7. नाग (Nag)
►-टेंक रोधी निर्देशित मिसाइल (Anti Tank
Guided Missile)ATGM
►-मारक क्षमता-4-6 किलोमीटर, Fire &
Forget पर
8. बराक (Barak)
►-इसे इजराइल के 'रफील आम्र्स ने विकसित
किया है।
►-लम्बवत संचार से दागी जाती है
तथा चारों दिशाओं में घूम सकती है।
►- हमलावर प्रक्षेपास्त्र को नष्ट कर सकती है।
►-एक प्रक्षेपास्त्र रोधी प्रणाली है जिसे
भारतीय नौसेना के जहाज पर लगाने के बाद
मई 2003 में परीक्षण किया गया।
9. सूर्या (Surya)
►-ICBM, 5000-8000 किलोमीटर
10 -KALI (electron accelerator) -Laser weapon
developed by DRDO and BARC

0 comments:

Post a Comment